in

5 खिलाड़ी जिनका इंडियन टी-20 लीग 2022 में उम्मीद के अनुरूप प्रदर्शन नहीं रहा

कुछ खिलाड़ी पूरे टूर्नामेंट में रन बनाने के लिए संघर्ष करते नजर आए।

Mayank Agarwal and Rohit Sharma: (Image Source: BCCI/IPL)
Mayank Agarwal and Rohit Sharma: (Image Source: BCCI/IPL)

इंडियन टी-20 लीग 2022 का विजेता कौन होगा, इसके बारे में पता चलने में सिर्फ दो मैच बाकी है। टूर्नामेंट में अपना पहला सीजन खेलते हुए गुजरात फाइनल में पहुंचने वाली पहली टीम है। वहीं दूसरे फाइनलिस्ट के बारे में आज होने वाले क्वालिफायर-2 के बाद पता चल जाएगा। इंडियन टी-20 लीग 2022 का फाइनल रविवार को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाना है।

इससे पहले टूर्नामेंट की सबसे सफल टीमें मुंबई और चेन्नई पहले ही बाहर हो चुकी है। दोनों ही टीम उम्मीदों पर खरी नहीं उतर पाई। इन दोनों टीमों की तरह कुछ खिलाड़ी भी उम्मीद पर खरे नहीं उतरे और रन बनाने में विफल रहे हैं। इस आर्टिकल में ऐसे ही पांच खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे, जिन्होंने उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं किया है।

1. रोहित शर्मा

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा के लिए यह सीजन एक भयानक सपने के जैसा था। उन्होंने 14 मैचों में 19.14 की औसत और 120.18 के स्ट्राइक रेट से केवल 268 रन बनाए। आलम ये रहा कि रोहित शर्मा पूरे सीजन में एक भी अर्धशतक नहीं बना सके। इस वजह से टीम के प्रदर्शन पर भी असर पड़ा और वह अधिक मुकाबले जीतने में नाकाम रही।

2. मयंक अग्रवाल

मयंक अग्रवाल को इंडियन टी-20 लीग 2022 में पंजाब की कप्तानी करने का मौका मिला। नेतृत्व के साथ उनके पास बल्लेबाजों की अगुवाई की जिम्मेदारी थी। लेकिन वह उम्मीद पर खरे नहीं उतरे। मयंक अग्रवाल बल्ले से अच्छा प्रदर्शन करने में सफल नहीं हुए, जिस वजह से बल्लेबाजी इकाई को भारी नुकसान हुआ। मयंक ने 13 मैचों में 16.71 की औसत से 196 रन बनाए।

3. केन विलियमसन

केन विलियमसन ने पूरे सीजन में हैदराबाद टीम का नेतृत्व किया। हैदराबाद लगातार दूसरे सीजन में प्लेऑफ में पहुंचने में नाकाम रहा है और उसके पीछे बल्ले से विलियमसन का खराब फॉर्म भी एक प्रमुख कारण है। उन्होंने टीम के लिए पारी की शुरुआत की, लेकिन मजबूत शुरुआत नहीं दिला सके। उन्होंने 13 मैचों में केवल 216 रन बनाए।

4. रवींद्र जडेजा

सीजन की शुरुआत से पहले रवींद्र जडेजा को चेन्नई का नया कप्तान बनाया गया था। उनके कप्तानी में चेन्नई की टीम अच्छा प्रदर्शन करने में विफल रही। कप्तानी के अतिरिक्त दबाव के कारण जडेजा के व्यक्तिगत प्रदर्शन भी असर पड़ा। जडेजा ने 10 मैचों में केवल 116 रन बनाए। गेंद के साथ भी वह उतने प्रभावी नहीं रहे और केवल 5 विकेट हासिल किए।

5. विराट कोहली

बैंगलोर के पूर्व कप्तान से फैन्स को काफी उम्मीदें थीं, लेकिन उनका खराब फॉर्म इंडियन टी-20 लीग 2022 में भी जारी रहा। वह 16 मैचों में 22.73 की औसत और 115.98 के स्ट्राइक रेट से 341 रन बनाने में सफल रहे। विराट कोहली में जो क्षमता है, उसे देखते हुए यह उनके लिए अच्छा सीजन नहीं रहा। उन्होंने केवल दो अर्धशतक बनाए।

Dinesh Karthik: (Image Source: BCCI/IPL)

क्वालीफायर-2 से पहले दिनेश कार्तिक को लगा जोरदार झटका, नियम तोड़ने पर मिली फटकार

Punjab team. (Photo Source: BCCI)

3 खिलाड़ी जिनको पंजाब 2023 सीजन से पहले कर सकता है रिलीज