in

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने केन विलियमसन की रणनीति पर जताई हैरानी, कहा- यह बकरे को कसाई के सामने भेजने जैसा है

आकाश चोपड़ा का मानना ​​है कि विलियमसन की कप्तानी भी उनकी बल्लेबाजी की तरह अच्छी नहीं रही है।

Kane-Williamson
Kane-Williamson (Source: Twitter)

इंडियन टी-20 लीग 2022 में हैदराबाद का अभियान बहुत अच्छा नहीं रहा है। टीम ने अपने शुरुआती दो मैच हारने के बाद जबरदस्त वापसी की और पांच मैचों में लगातार जीत दर्ज की। लेकिन एक बार फिर उनके प्रदर्शन में कमी आई और उन्हें अगले पांच मैचों में करारी हार मिली। इसकी वजह से केन विलियमसन की अगुवाई वाली टीम अंकतालिका में नीचे खिसक गई है और उसके प्लेऑफ की संभावनाएं कम है।

हैदराबाद के लगातार खराब प्रदर्शन के पीछे कप्तान केन विलियमसन का बल्ले से संघर्ष करना भी रहा है। दाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज ने इस सीजन में सिर्फ 208 रन बनाए हैं। विलियमसन के इस प्रदर्शन पर पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज आकाश चोपड़ा का मानना ​​है कि उनकी कप्तानी भी ठीक नहीं है।

आकाश चोपड़ा ने विलियमसन के कप्तानी पर उठाए सवाल

दरअसल, कोलकाता के खिलाफ विलियमसन ने आखिरी ओवर में गेंदबाजी करने के लिए वाशिंगटन सुंदर को बुलाया, लेकिन आंद्रे रसेल ने उस ओवर में खूब रन बटोरे। इस सीजन में पहले भी जब ये दोनों टीमें भिड़ी थीं, तो बाएं हाथ के स्पिनर जगदीश सुचित ने आखिरी ओवर डाला था और वहां भी आंद्रे रसेल ने खूब रन बटोरे थे। विलियमसन के ऐसे फैसले से हैरान आकाश चोपड़ा ने उनकी रणनीति पर सवाल उठाए हैं।

आकाश चोपड़ा ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, कप्तान केन का फैसला वाकई हैरानी भरा है। एक ही इकाई के खिलाफ दो बार एक जैसी गलती। ब्रेबोर्न स्टेडियम में जगदीश सुचिन ने आखिरी ओवर फेंका और यहां वाशिंगटन सुंदर है। मेरा मतलब है कि कैसे ? उन्होंने कहा, विलियमसन एक अच्छे कप्तान हैं, लेकिन एक गलती दो बार, वह भी आंद्रे रसेल के खिलाफ समझ से परे हैं। यह एक बकरे को कसाई के सामने भेजने जैसा है।

बता दें कि हैदराबाद की टीम अब मुश्किल में है, क्योंकि बाकी के दो मैच जीतने के बावजूद उसके क्वालीफाई करने का रास्ता साफ नहीं है। उन्हें अगले चरण में जगह बनाने के लिए अन्य टीमों के परिणामों पर भी निर्भर रहना होगा।

मंकी गेट विवाद के बाद साइमंड्स और हरभजन कैसे बने अच्छे दोस्त, पूर्व भारतीय स्पिनर ने बताया

Yuzvendra Chahal. (Photo Source: IPL/BCCI)

ओपनिंग करने पर युजवेंद्र चहल का मजेदार जवाब, ‘मैं 10 मैचों में तोड़ दूंगा विराट कोहली के 973 रनों का रिकॉर्ड’