in

एंड्रयू साइमंड्स ने किया खुलासा, आखिर क्यों टूटी माइकल क्लार्क से दोस्ती

एंड्रयू साइमंड्स और माइकल क्लार्क ने एक साथ काफी क्रिकेट खेला है।

Money can be a poison: Andrew Symonds (Photo Source: Twitter)
Money can be a poison: Andrew Symonds (Photo Source: Twitter)

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर एंड्रयू साइमंड्स ने टीम के पूर्व साथी माइलक क्लार्क के साथ रिश्तों में अपने मतभेद को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। दोनों खिलाड़ियों ने एक साथ काफी क्रिकेट खेला है और एक मजबूत बॉन्डिंग के लिए जाने जाते हैं। हालांकि साइमंड्स के अंत में उनके रिश्ते में दरार आ गई और उनका मानना है कि यह इंडियन टी-20 लीग में अधिक राशि मिलने के कारण हो सकता है।

बता दें कि 2008 की इंडियन टी-20 लीग नीलामी में साइमंड्स दूसरे सबसे महंगे खिलाड़ी थे, जिन्हें अब निष्क्रिय डेक्कन चार्जर्स ने 1.35 मिलियन डॉलर में खरीदा था। उन्होंने विस्तार से बात नहीं कि लेकिन उन्होंने स्वीकार किया कि क्लार्क के साथ उनके संबंधों में खटास के लिए पैसा एक कारण हो सकता है।

ब्रेट ली से बातचीत में साइमंड्स ने किया खुलासा

फॉक्स स्पोर्ट्स के मुताबिक साइमंड्स ने ब्रेट ली से बातचीत में बताया, जब क्लार्क टीम में आए तो हम करीब आ गए। मैं उनके साथ बल्लेबाजी किया करता था। इसलिए जब टीम में आए तो मैंने उनका पूरा ख्याल रखा। हमारे बीच एक अच्छा बॉन्ड बन गया था। मैथ्यू हेडन ने मुझसे कहा-जब इंडियन टी- लीग शुरू हुआ, तो मुझे उसमें खेलने के लिए काफी ज्यादा पैसे मिले। इसी वजह से उनके अंदर जलन की भावना आ गई और फिर रिश्तों में दरार पड़ गया।

उन्होंने आगे कहा, पैसा अच्छी चीज है, लेकि यह रिश्तों में जहर घोल सकता है। मुझे लगता है कि इससे हमारे रिश्तों में खटास आ गई। मैं उनका सम्मान करता हूं। उनके साथ अब मेरी दोस्ती नहीं है और मैं इससे सहज हूं।

साइमंड्स के रवैये पर काफी मुखर रहे क्लार्क

बता दें कि माइकल क्लार्क साइमंड्स के गैर-पेशेवर रवैये के लिए काफी मुखर रहे हैं। क्लार्क ने अपनी 2015 की एशेज डायरी में लिखा था, एंड्रयू साइमंड्स ने टीवी पर जाकर मेरे नेतृत्व की आलोचना की। मुझे खेद है, लेकिन उन्हें कोई हक नहीं कि वह किसी के नेतृत्व पर सवाल उठाएं।

Sachin Tendulkar

सचिन तेंदुलकर के 49वें जन्मदिन पर गौतम गंभीर समेत अन्य क्रिकेटर्स ने दी शुभकामनाएं

Virat Kohli. (Photo Source: Twitter)

विराट कोहली को मोहम्मद अजहरुद्दीन की सलाह, खुद को तरोताजा रखने के लिए 2-3 मैचों का ब्रेक लें