Advertisment

Ranji Trophy 2022: कोरोना की चपेट में आई बंगाल की टीम, सात सदस्य हुए संक्रमित

रणजी ट्रॉफी के आगामी संस्करण से पहले बंगाल की टीम में कोरोना का विस्फोट हुआ है। बंगाल के 6 खिलाड़ी और एक स्टाफ कोविड-19 पॉजिटिव पाये गये हैं।

author-image
Justin Joseph
New Update
Bengal Ranji Team. (Photo Source: Twitter)

Bengal Ranji Team. (Photo Source: Twitter)

रणजी ट्रॉफी के आगामी संस्करण से पहले बंगाल की टीम में कोरोना का विस्फोट हुआ है। बंगाल के 6 खिलाड़ी और एक स्टाफ कोविड-19 पॉजिटिव पाये गये हैं। जिन खिलाड़ियो के कोरोना संक्रमित होने की सूचना मिली है, उसमें सुरजीत यादव, सुदीप चटर्जी, अनुस्तूप मजूमदार, गीत पुरी, प्रदीप्त प्रमाणिक और काजी जुनैद सैफी शामिल हैं। साथ ही सहायक कोच सौराशीष लाहिड़ी भी कोरोना संक्रमित हुए हैं।

Advertisment

ये सभी रविवार 2 जनवरी को साल्ट लेक में जादवपुर विश्वविद्यालय के दूसरे परिसर के मैदान में हुए एक इंट्रा-स्क्वाड वार्म-अप का हिस्सा थे। सूत्रों के मुताबिक सात संक्रमित सदस्य फिलहाल आइसोलेशन में हैं। बंगाल प्रथम श्रेणी टूर्नामेंट में अपने अभियान की शुरुआत 13 जनवरी को त्रिपुरा के खिलाफ मैच से करेगा।

सीएबी आवश्यक सावधानी बरत रहा है

सूत्र ने कहा, 'स्ट्रेन के बारे में पता लगाया जाना बाकी है। सभी को प्रोटोकॉल के अनुसार आइसोलेट कर दिया गया है।' बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष स्नेहाशीष गांगुली ने इस बीच आश्वासन दिया कि कोविड-19 महामारी के बीच जरूरी एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। बंगाल को ग्रुप में हरियाणा, केरल, राजस्थान, त्रिपुरा और विदर्भ के साथ रखा गया है और उन्हें पृथ्वी शॉ की मुंबई के खिलाफ अभ्यास मैच भी खेलना है।

Advertisment

स्नेहाशीष गांगुली ने एक बयान में कहा, 'मौजूदा महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए बंगाल क्रिकेट संघ ने सुरक्षा उपाय के रूप में सभी बंगाल क्रिकेटरों के आरटी-पीसीआर टेस्ट किए थे।' 'रिजल्ट आने पर कुछ खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाये गए हैं। सीएबी इस संबंध में सभी आवश्यक सावधानी बरत रहा है और कार्रवाई कर रहा है।'

स्थानीय टूर्नामेंटों पर भी लगी रोक

सीएबी ने मंगलवार 4 जनवरी को एक आपात बैठक बुलाने का फैसला किया है। सीएबी ने महामारी के मद्दनेजर कई स्थानीय टूर्नामेंटों पर भी रोक लगा दी है।

Advertisment

सीएबी के अध्यक्ष अविषेक डालमिया ने कहा, 'बैठक होने तक मौजूदा महामारी की स्थिति और हाल में बढ़ते मामले को ध्यान में रखते हुए सीएबी ने सभी स्थानीय टूर्नामेंटों को रोकने का फैसला किया है।'

उन्होंने कहा, 'सीएबी 15-18 आयु वर्ग में आने वाले पंजीकृत खिलाड़ियों का टीकाकरण करने के लिए भी तत्काल कदम उठा रहा है।'

Cricket News General News India