in

पूर्व पाकिस्तान खिलाड़ी ने खराब फॉर्म से गुजर रहे विराट कोहली की तकनीक पर उठाए सवाल, कहा बाबर आजम कभी ऐसे दौर से नहीं गुजरेंगे

आकिब जावेद का कहना है कि, “बाबर आजम, जो रूट और केन विलियमसन जैसे खिलाड़ी कोहली की तरह इतनी लंबी खराब फॉर्म से नहीं गुजरेंगे।

Virat Kohli (Image Credit: Twitter)
Virat Kohli (Image Credit: Twitter)

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर आकिब जावेद ने कहा है कि बाबर आजम कभी भी विराट कोहली की तरह इतने लंबे समय के लिए खराब फॉर्म से नहीं गुजरेंगे। कोहली पिछले कुछ सालों से खराब फॉर्म से गुजर रहे हैं और ऐसे में उन्हें कई आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। इंडियन टी-20 लीग 2022 में कोहली ने 341 रन बनाए थे और उसके बाद उन्होंने सिर्फ 5 अंतरराष्ट्रीय मैच इस साल खेले हैं। कोहली का खराब फॉर्म उनके साथ सभी के लिए चिंता का विषय बना हुआ है और जावेद का मानना है कि विराट कोहली की तकनीक खराब है इसलिए उन्हें फॉर्म से आने में देरी हो रही है।

जावेद का मानना है कि बाबर आजम, केन विलियमसन और जो रूट जैसे खिलाड़ी खराब फॉर्म से ज्यादा दिन नहीं गुजर सकते। बता दें कि साल 2019 के बाद से कोहली ने एक भी शतक नहीं जड़ा है और वह ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंद पर हमेशा आउट हो जा रहे हैं।

पाक टीवी से बातचीत में जावेद ने कहा कि, “दो तरह के महान खिलाड़ी होते हैं, एक जिसका बुरा दौर लंबे समय तक चलता है। और दूसरा अच्छी तकनीक वाले बल्लेबाज, जिनका बुरा फॉर्म ज्यादा दिन नहीं रहता जैसे कि बाबर आजम, केन विलियमसन और जो रूट। इन महान खिलाड़ियों की कमजोरी पकड़ना बेहद मुश्किल है।”

एशिया कप 2022 कोहली के लिए फॉर्म में आने का अच्छा मौका है: जावेद 

जावेद ने कहा कि, “आउट्साइड ऑफ स्टंप वाली गेंद पर कोहली हमेशा फंस जा रहे हैं। जेम्स एंडरसन ने भी कई बार उन्हें इसी तरह गेंदबाजी की। जब मैं उनका मैच देख रहा था तो मैने देखा की वह ऐसे गेंद को बार-बार छोड़ दे रहे हैं। जब आप अपनी तकनीक में बदलाव करते हैं तब आपको ऐसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस दुविधा से बाहर आने के लिए कोहली को बिना कुछ सोचे बड़े गेम खेलने की जरूरत है, इससे उन्हें लंबे समय तक फॉर्म में बने रहने में मदद मिलेगी।”

जावेद का मानना है कि यूएई में होने वाला एशिया कप कोहली के लिए बेहतर मौका होगा जिससे वह अपने फॉर्म को वापस ला सकते हैं। भारत और पाकिस्तान 28 अगस्त को एक दूसरे से भिड़ेंगे। जावेद का कहना है कि, “अगर कोहली अच्छा प्रदर्शन नहीं करते और भारत मैच हार जाता है तो उन्हें भी पाकिस्तान की तरह आलोचनाओं का सामना करना पड़ेगा। लोग सवाल करेंगे की दीपक हुड्डा जो फॉर्म मे हैं उन्हें क्यों नहीं खेलने दिया गया। लेकिन यूएई की पिच बेहद अच्छी है, वह खराब फॉर्म वाले बल्लेबाज को भी फॉर्म में वापसी करने में मदद करती है।”

(Photo courtesy - Indian Football Twitter handle)

भारतीय मेन्स फुटबॉल टीम अगले महीने वियतनाम और सिंगापुर में खेलेगी फ्रेंडली मैच

Novak Djokovic ( Image Credit: Twitter)

सिनसिनाटी ओपन से बाहर हुए नोवाक जोकोविच, कोविड-19 वैक्सीन नहीं लगवाना बनी वजह