in

मंकी गेट विवाद के बाद साइमंड्स और हरभजन कैसे बने अच्छे दोस्त, पूर्व भारतीय स्पिनर ने बताया

इंडियन टी20 लीग 2011 के दौरान एंड्रयू साइमंड्स और हरभजन सिंह मुंबई के लिए साथ में खेले।

रविवार 15 मई की सुबह क्रिकेट फैन्स के लिए के एक बुरी खबर लेकर आई कि ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज एंड्रूयू साइमंड्स अब इस दुनिया में नहीं रहे। शनिवार 14 मई की रात एक कार एक्सीडेंट में उनकी मौत हो गई। यह दुखद घटना टाउन्सविले शहर के बाहरी इलाके में हुआ। साइमंड्स के निधन की खबर से पूरे क्रिकेट जगत में शोक का माहौल हो गया। उनके निधन की खबर सुनकर पूर्व भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह भी स्तब्ध रह गए और उन्होंने दो बार के विश्व विजेता को श्रद्धाजंलि दी।

बता दें कि भारत के 2007-08 ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान हरभजन सिंह और एंड्रयू साइमंड्स के बीच विवाद हुआ था। क्रिकेट जगत में इसे ‘मंकी गेट’ विवाद के रूप में जाना गया। हालांकि, साइमंड्स जब इंडियन टी-20 लीग 2011 में मुंबई की टीम में शामिल हुए तो हरभजन सिंह और उनके रिश्ते बेहतर हो गए। हरभजन ने खुलासा किया कि उनके और साइमंड्स के बीच रिश्ते इंडियन टी-20 लीग में खेलने के दौरान बेहतर हुए। उन्हें ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर के बारे में और जानने का मौका मिला।

‘वह ऐसे व्यक्ति थे, जिन्हें मैं सुबह के 2:30 बजे फोन कर सकता था’

हरभजन ने स्टार स्पोर्ट्स पर कहा, जाहिर है कि हम दोनों का इतिहास रहा है, लेकिन इंडियन टी-20 लीग और मुंबई फ्रेंचाइजी का धन्यवाद है कि हम दोनों को एक ड्रेसिंग रूप में एक साथ लाने का काम किया। इससे मुझे एक प्यारे इंसान के बारे में जानने का अवसर मिला और हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए।

उन्होंने कहा कि हम साथ बैठते थे, शराब पीते थे, हंसते थे, बहुत सारी बाते करते थे। वह ऐसे व्यक्ति थे जिन्हें मैं सुबह के 2:30 बजे फोन कर सकता था और पूछ सकता था कि ‘हे दोस्त, तुम क्या कर रहे हो? मिलने के लिए कहूं तो वह इसके लिए तैयार हो जाते।

हरभजन ने कहा, मैं सुबह उठा और फोन पर इस खबर को देखते ही टूट गया। मुझे अभी भी विश्वास नहीं हो रहा है कि एंड्रयू नहीं है, क्योंकि वह बहुत मजबूत इंसान थे। जो कुछ भी हुआ है वह बहुत दुखद है। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना है। यह हम सभी के लिए एक बड़ी क्षति है।

Ambati Rayudu. (Photo Source: IPL/BCCI)

कोच स्टीफन फ्लेमिंग ने अंबाती रायुडू ट्वीट मामले पर तोड़ी अपनी चुप्पी, बताई फैसले के पीछे की वजह

Kane-Williamson

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने केन विलियमसन की रणनीति पर जताई हैरानी, कहा- यह बकरे को कसाई के सामने भेजने जैसा है