in

भविष्य में भारतीय टीम की कप्तानी दिए जानें की बात पर हार्दिक पांड्या ने दिया बड़ा बयान

वेस्टइंडीज से सीरीज जीतने के बाद भारत अब 3 मैचों की वनडे सीरीज के लिए जिम्बाब्वे से भिड़ेगा।

Hardik Pandya (Photo Source: Twitter)
Hardik Pandya (Photo Source: Twitter)

7 अगस्त को खेले गए पांचवें टी-20 मैच में भारत ने वेस्टइंडीज को बुरी तरह से हराया। इसी जीत के साथ भारत ने 5 मैचों की टी-20 सीरीज में 4-1 से बढ़त हासिल कर सीरीज अपने नाम की। भारत ने वनडे सीरीज में भी बेहतरीन प्रदर्शन दिखाया था और 3-0 से सीरीज को जीत लिया था। वनडे और टी-20 सीरीज में वेस्टइंडीज ने बेहद ही खराब क्रिकेट खेला।

पांचवें टी-20 मुकाबले में कप्तान रोहित शर्मा को आराम दिया गया था और उनकी जगह हार्दिक पांड्या को कप्तानी सौंपी गई थी। पांड्या ने टीम का अच्छे से नेतृत्व किया और 88 रनों से टीम को जीत भी दिलाई।

इंडियन टी-20 लीग 2022 में पांड्या कर चुके हैं कप्तानी

भारतीय टीम ने 1 साल के अंदर लगभग सभी क्रिकेट फॉर्मेट में 7 कप्तान बदले हैं। हार्दिक पांड्या भी उनमें से एक ही हैं। इंडियन टी-20 लीग 2022 का सीजन हार्दिक के लिए काफी शानदार रहा था। कुछ साल पहले चोटिल होने के कारण वह टीम का हिस्सा नहीं थे लेकिन लीग में वापसी कर न उन्होंने अच्छा क्रिकेट दिखाया बल्कि लीग में डेब्यू कर रही गुजरात टाइटन्स के टीम को उनकी पहली ट्रॉफी भी दिलाया।

भविष्य में कप्तानी की बात पर हार्दिक पांड्या का बयान 

भारतीय कप्तान के रूप में भविष्य में उनकी भूमिका के बारे में पूछे जाने पर, हार्दिक ने कहा कि वह उस भूमिका को स्वीकार करने से अधिक खुश होंगे, लेकिन अभी उनका ध्यान एशिया कप और ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप पर है। उन्होंने टीम की बात करते हुए कहा कि हम मैच का आनंद लेने के साथ-साथ बेहतर होने का भी प्रयास कर रहे हैं।

क्रिकइन्फो को दिए बयान में उन्होंने कहा कि, “अगर मुझे भविष्य में टीम की कप्तानी का मौका मिलता है तो मुझे बेहद खुशी होगी, लेकिन अभी एशिया कप और टी-20 वर्ल्ड कप आने वाला है। मैं और टीम के सभी खिलाड़ी सिर्फ उस ध्यान दे रहे हैं। हम अपनी टेक्निक सुधारने और बेहतर होने पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं।”

सीरीज जीतने पर रोहित शर्मा का भी आया बयान 

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने भी श्रृंखला में भारत की जीत पर टिप्पणी करते हुए टीम की सराहना की। इसके साथ ही उन्होंने यह संकेत देते हुए कहा कि एक समय ऐसा आएगा जब भारतीय टीम एक ही समय में इंडियन टी-20 लीग के दस अलग-अलग कप्तानों को शामिल कर सकती है। उन्होंने माना कि टीम में ऐसे खिलाड़ियों को शामिल करने के बाद उनका काम बहुत आसान हो जाएगा क्योंकि वे खिलाड़ी टीम में अपनी भूमिका को अच्छी तरह समझ पाएंगे।

पीवी सिंधु ने भारत को दिलाया गोल्ड मेडल, सिंधु की जीत से भारत को मिली अंकतालिका में बढ़त

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 फाइनल: जानें कैसे कोविड पॉजिटिव होने के बाद भी ऑस्ट्रेलिया की तहलिया मैकग्रा को खेलने की मिली मंजूरी