Advertisment

यदि 'ब्लैक लाइव्स मैटर' मायने रखता है तो आपको घुटने के बल बैठकर सांकेतिक समर्थन करना चाहिए था : माइकल होल्डिंग

माइकल होल्डिंग ने कहा कि अगर कोई नस्लवाद के खिलाफ है तो उसे घुटने के बल बैठकर सांकेतिक समर्थन करना चाहिए था।

author-image
Justin Joseph
New Update
Michael Holding. (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)

Michael Holding. (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)

दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी क्विंटन डी कॉक द्वारा ब्लैक लाइव्स मैटर के समर्थन में घुटने पर नहीं बैठने के मामले में अब वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर माइकल होल्डिंग ने कहा है कि डी कॉक का वेस्टइंडीज के खिलाफ नहीं खेलने से वह हैरान थे। वेस्टइंडीज के खिलाफ टॉस के दौरान अफ्रीकी कप्तान टेम्बा बावुमा ने कहा कि डी कॉक व्यक्तिगत कारणों से इस मैच में नहीं खेल रहे हैं। इसके बाद इस मामले में पूरी जानकारी बाहर आई।

Advertisment

वहीं माइकल होल्डिंग ने कहा कि अगर कोई नस्लवाद के खिलाफ है तो उसे घुटने के बल बैठकर सांकेतिक समर्थन करना चाहिए था। 25 अक्टूबर को एक बयान जारी दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ियों ने नस्लवाद के खिलाफ एक होने की बात कही।

माइकल होल्डिंग ने कहा कि मैं यह कभी नहीं समझ पाऊंगा कि कैसे कोई कह सकता है कि उनके लिए ब्लैक लाइव्स, एशियाई लाइव्स, ह्वाइट लाइव्स, सभी के समान जीवन जैसे मैटर मायने रखते हैं। वो भी तब जब आपको इसे साबित करने का अवसर मिले और आप पीछे हट जाए।

क्विंटन डी कॉक ने मांगी माफी

Advertisment

इस बीच क्विंटन डी कॉक ने माफीनामा जारी किया और कहा कि वह नस्लवादी नहीं है। इस पर होल्डिंग ने कहा कि अगर वह नस्लवाद के खिलाफ लड़ाई में शामिल हैं तो उन्हें घुटने के बल बैठकर समर्थन करना चाहिए था। माइकल होल्डिंग ने कहा मैं उनके बयान से केवल यही उम्मीद कर सकता हूं कि उन्होंने मूर्खतापूर्ण गलती की है।

होल्डिंग ने कहा मैं फैसले तक पहुंचने के लिए उनके बारे में पर्याप्त नहीं जानता। मैं डी कॉक के बयान से केवल यही उम्मीद कर सकता हूं कि उन्होंने मूर्खतापूर्ण गलती की है और उन्होंने गलती को स्वीकार किया है। अब वह वही करने जा रहे हैं, जो उन्हें शुरू में करना चाहिए था।

माइकल होल्डिंग ने कई बार रखी अपनी राय

2020 में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद से 'ब्लैक लाइव्स मैटर' आंदोलन को लेकर काफी कुछ घटित हुआ। माइकल होल्डिंग ने कई बार इस पर अपनी राय दी। उन्होंने इस मामले में तीसरी पुस्तक लिखी, जिसका शीर्षक 'ह्वाई वी नील, हाऊ वी रोज' था। यह बुक विलियम हिल्स स्पोर्ट्स बुक ऑफ द ईयर के लिए भी चुना गया था।

Cricket News South Africa General News T20 World Cup 2021