in

इंडियन टी-20 लीग, मैच 37: लखनऊ बनाम मुंबई मैच के बाद ये रही दोनों कप्तानों की प्रतिक्रियाएं

(Image Source: BCCI/IPL)
(Image Source: BCCI/IPL)

लखनऊ ने इंडियन टी-20 लीग 2022 के 37वें मैच में मुंबई को 36 रनों से मात देकर शानदार जीत दर्ज की। इस हार के साथ ही पांच बार की चैंपियन मुंबई को लगातार आठवें मुकाबले में शिकस्त मिली, साथ ही उनका जीत का खाता अब भी नहीं खुल सका है जिससे वे अंकतालिका में सबसे नीचे हैं।

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। उनका निर्णय कुछ हद तक सटीक रहा जब लखनऊ को शीर्ष और मध्यक्रम के पतन का सामना करना पड़ा था। हालांकि, उनके कप्तान केएल राहुल ने चीजों को संभालते हुए अकेले दम पर मुंबई के गेंदबाजों के खिलाफ जवाबी हमला किया। उन्होंने इस सीजन का अपना दूसरा शतक लगाते हुए लखनऊ को 20 ओवर में 168/6 के स्कोर तक पहुंचाया।

जवाब में, मुंबई ने सलामी बल्लेबाज इशान किशन का विकेट आठ रन पर गंवा दिया। इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा (39), तिलक वर्मा (38) और कायरन पोलार्ड (19) के अलावा कोई भी अन्य बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाया। अंततः, मुंबई पूरे 20 ओवर खेलने के बाद आठ विकेट खोकर 132 रन ही बना सकी और लगातार आठवीं शिकस्त मिली।

मुझे लगा कि हमने ठीक-ठाक गेंदबाजी की है। यह बिल्कुल आसान नहीं था। पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी थी। मुझे ऐसा लगा कि इस स्कोर का पीछा किया जा सकता है, लेकिन हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। जब आपके सामने ऐसा लक्ष्य होता है तो साझेदारी बनाना बहुत जरूरी हो जाता है। मुझ सहित कुछ गैर-जिम्मेदाराना शॉट्स से हमें लय प्राप्त नहीं हुई। उन्होंने काफी अच्छी गेंदबाजी की। हमने टूर्नामेंट में अच्छी बल्लेबाजी नहीं की है। जो भी मैदान पर उतरता है, उसे पूरी जिम्मेदारी के साथ लम्बी पारी खेलनी होगी। कुछ विपक्षी खिलाड़ियों ने ऐसा किया है और यही हमें परेशान कर रहा है। किसी एक खिलाड़ी को जितना हो सके, उतनी लम्बी बल्लेबाजी करनी पड़ेगी।

जिस तरह यह सीजन गया है, उससे हमारी टीम के सभी लोग चर्चा का विषय बने हुए हैं। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम स्थिर टीम रहें और खिलाड़ियों को सही मौका दें। जब वे अपने देश के लिए खेलते हैं तो उनकी भूमिका अलग रहती है और यहां हम उनसे कुछ और उम्मीद करते हैं। हमने बहुत ज्यादा बदलाव नहीं करने की कोशिश की और सर्वश्रेष्ठ संयोजन खिलाने का प्रयास किया। लेकिन जब आप मुकाबले हारते हैं तो ऐसी चर्चा होना लाज़मी है। जहां तक मेरी बात है तो मैं सभी को खुद को साबित करने के लिए पर्याप्त मौके देना चाहता हूं। यह सीजन वैसा नहीं गया है जैसा हम चाहते थे लेकिन ऐसा होता है।

विजयी कप्तान एवं प्लेयर ऑफ द मैच केएल राहुल:

(अपने प्लेयर ऑफ द मैच पुरस्कार को लेकर) मुझे ओवर रेट और जुर्माने से बाहर आना होगा। परिस्थिति के अनुसार और मुझसे होने वाली उम्मीदों के अनुसार खेलने का प्रयास कर रहा हूं। बल्लेबाजी करके मजा आ रहा है, जिम्मेदारी भी मजेदार है। आशा करता हूं कि सही चीजें आगे भी करता रहूं। पहली सोच यही थी कि बल्ले पर गेंद सही से लगे और मुझे एक रन मिल जाए। जब आप ऐसे स्थान पर खेलते हैं जो मेरे लिए पहले अच्छा साबित हुआ है लेकिन पिछले दो मैचों में अच्छा नहीं रहा है तो इसलिए सिर्फ एक रन लेना चाहता था।

खुशकिस्मत हूं कि शतक बना पाया। मैं पिच और परिस्थितियों का आंकलन करने की कोशिश करता हूं जिससे टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ योगदान दे पाऊँ। हमारी टीम की बल्लेबाजी में गहराई है, होल्डर आठवें नंबर पर खेल रहे हैं। इस गहराई से आप अधिक आजादी से खेल सकते हैं। (उनके अधिक स्ट्राइक रेट के पीछे) यही शायद एक कारण है। वो टीमें जो अच्छे से स्कोर का बचाव कर पाती हैं या फिर वे जो पावरप्ले में अच्छी गेंदबाजी करती हैं तथा अंतिम ओवरों में अच्छे से खत्म करती हैं, वही टीमें टूर्नामेंट जीतती हैं। ऑक्शन से पहले हम स्पष्ट थे कि हमें टीम में कई हरफनमौला खिलाड़ी चाहिए। उनके टीम में होने से अधिक विकल्प मिलते हैं जिससे मुझे आसानी होती है।

(Image Source: BCCI/IPL)

मुंबई की लगातार आठवीं हार के बाद ईशान किशन पर भड़के फैन्स, लखनऊ ने 36 रनों से दर्ज की जीत

KL Rahul: (Image Source: BCCI/IPL)

स्लो ओवर रेट के कारण लखनऊ की पूरी टीम पर लगा जुर्माना, केएल राहुल पर मंडराया बैन होने का खतरा