in

जब राहुल द्रविड़ ने बताई थी एमएस धोनी की खासियत, कहा- ‘यह ऐसा कौशल है जो मेरे पास संभवत: कभी नहीं था’

एमएस धोनी ने दो साल पहले आज ही के दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी।

Rahul Dravid and MS Dhoni (Image Credit: Twitter)
Rahul Dravid and MS Dhoni (Image Credit: Twitter)

महेंद्र सिंह धोनी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिए हुए आज दो साल हो गए। उन्होंने आज ही के दिन, 15 अगस्त 2020 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया। पूर्व कप्तान एमएस धोनी को आज तक क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ फिनिशरों में से एक माना जाता है। उन्होंने नंबर-5 और 6 पर बल्लेबाजी करते हुए शानदार आंकड़े दर्ज किए हैं।

भारतीय टीम के वर्तमान मुख्य कोच द्रविड़ ने एक बार मैच के अंतिम चरण के दौरान एमएस धोनी और उनकी खेल रणनीति पर विशेष रूप से अपनी बातें शेयर की थीं। ईएसपीएन क्रिकइंफो द्वारा आयोजित एक वीडियोकास्ट में भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर के साथ बातचीत में द्रविड़ ने एक मैच खेलते समय धोनी की मानसिकता की सराहना की।

उन्होने कहा, ‘आप मैच के आखिरी में जब एमएस धोनी को खेलते हुए देखते हैं तो वह अपने बेस्ट अंदाज में होते हैं। आपको हमेशा लगता है कि वह वास्तव में कुछ महत्वपूर्ण कर रहा है लेकिन वह ऐसे खेल रहा है, जैसे परिणाम उसके लिए वास्तव में मायने नहीं रखता।’

द्रविड़ ने आगे कहा, ‘मुझे लगता है कि आप में वैसी काबिलियत होनी चाहिए या फिर आपको इसके लिए अभ्यास करने की जरूरत है। मुझे लगता है कि यह एक ऐसा कौशल है जो संभवतः मेरे पास कभी नहीं था। किसी भी निर्णय का नतीजा मेरे लिए मायने रखता था। आप जानते हैं?’

उन्होंने कहा कि, ‘महेंद्र सिंह धोनी से यह पूछना वाकई दिलचस्प होगा कि क्या यह कुछ ऐसा है जो वह स्वाभाविक रूप से कर लेते हैं या उन्होंने संभावित रूप से इस पर काम किया है। और अगर उनके पास इसका जवाब है कि वह क्या है, तो उन्हें उसकी मार्केटिंग करनी चाहिए! लेकिन महान फिनिशर ऐसा करते हैं। वह खुद को दिमागी तौर पर ऐसे तैयार कर लेते हैं।’

Dinesh Karthik and Rishabh Pant (Photo Source: BCCI/Twitter)

दिनेश कार्तिक के प्लेइंग इलेवन में होने से ऋषभ पंत को कितना खतरा? भारतीय विकेटकीपर ने दिया सधा हुआ जवाब

फीफा ने भारतीय फुटबॉल महासंघ को किया निलंबित, महिला विश्व कप की मेजबानी छीनी; जानें वजह