in

जिन खिलाड़ियों को उनकी फ्रेंचाइजी ने अपनी टीम से निकाला, वो नई टीमों के साथ मचा रहे हैं धमाल

इस सीजन में कहर बरपा रहे कुछ खिलाड़ी पिछले साल अलग-अलग फ्रेंचाइजी के लिए खेल रहे थे।

(Image Source: BCCI/IPL)
(Image Source: BCCI/IPL)

इंडियन टी-20 लीग मेगा-ऑक्शन 2022 की शुरुआत से पहले पिछली 8 फ्रेंचाइजी को केवल चार खिलाड़ियों को रिटेन करने के लिए कहा गया था। इसको देखते हुए न चाहते हुए भी इन फ्रेंचाइजी को अपने पसंदीदा खिलाड़ियों को रिलीज करना पड़ा। इसलिए इंडियन टी-20 लीग के 15वें संस्करण में कई खिलाड़ी विभिन्न फ्रेंचाइजी के लिए खेलते हुए दिखाई दे रहे हैं।

इस सीजन में कहर बरपा रहे कुछ शीर्ष खिलाड़ी पिछले साल अलग-अलग फ्रेंचाइजी के लिए खेल रहे थे। इस बात से कोई इनकार नहीं करता कि उनकी पिछली फ्रेंचाइजी उन्हें रिलीज करने से निराश होगी। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही खिलाड़ियों की बात करेंगे, जिन्हें रिलीज करने के बाद पिछली फ्रेंचाइजी मेगा नीलामी में भी वापस हासिल नहीं करने के लिए पछता रही होगी।

1. कोलकाता- कुलदीप यादव

भारतीय लेग स्पिनर ने इंडियन टी-20 लीग के 2021 संस्करण में कोलकाता के लिए केवल पांच मैच खेले। फ्रेंचाइजी ने उनकी क्षमताओं पर विश्वास नहीं दिखाया और न ही उन्हें अपनी योग्यता साबित करने के लिए पर्याप्त अवसर दिए। अंत में फ्रेंचाइजी ने उन्हें मेगा नीलामी से पहले रिलीज कर दिया।

कुलदीप यादव को दिल्ली ने मेगा नीलामी में खरीदा और यह अब तक का मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ है। भारतीय लेग स्पिनर ने मौजूदा संस्करण में सनसनीखेज प्रदर्शन किया है। वह लगातार टीम के लिए विकेट ले रहे हैं और इस समय टूर्नामेंट में 8 मैचों में 17 विकेट लेकर पर्पल कैप की रेस में दूसरे नंबर पर हैं।

2. बैंगलोर- युजवेंद्र चहल

बैंगलोर ने मेगा नीलामी से पहले जब युजवेंद्र चहल को रिटेंशन लिस्ट में शामिल नहीं किया तो सभी हैरान रह गए थे। लेकिन मेगा नीलामी में राजस्थान ने युजवेंद्र चहल को अपनी टीम में शामिल किया और इस समय मौजूदा सीजन में उन्होंने शानदार गेंदबाजी की। वह सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। उन्होंने अब तक खेले 8 मैचों में 18 विकेट लेने में कामयाबी हासिल की है। इसलिए उन्हें रिलीज करना बैंगलोर के लिए एक बड़ी गलती थी।

3. मुंबई- हार्दिक पांड्या

पांच बार की चैंपियन मुंबई ने मेगा नीलामी से पहले हार्दिक पांड्या को रिलीज कर दिया। लेकिन 2022 संस्करण में फ्रेंचाइजी और हार्दिक पांड्या के प्रदर्शन को देखते हुए मुंबई को उन्हें रिटेन न करने का पछतावा होगा। हार्दिक पांड्या इस समय गुजरात की अगुवाई कर रहे हैं और टीम ने अब तक शानदार प्रदर्शन किया है। पांड्या मौजूदा सत्र में तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। उन्होंने 7 मैचों में 61.00 की औसत से 305 रन बनाए हैं।

Lucknow (Source: BCCI/IPL)

लखनऊ फ्रेंचाइजी के लिए दुखद खबर, सड़क दुर्घटना में टीम के CEO समेत 3 लोग घायल

Lucknow (Source: BCCI/IPL)

दमदार गेंदबाजी ने लखनऊ को दिलाई जीत, पंजाब को मिली हार के बाद सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए मयंक अग्रवाल