in

PSL 2022 : टूर्नामेंट के सफल आयोजन के लिए पीसीबी ने बनाया मास्टर प्लान

PSL का सातवां संस्करण 27 जनवरी से शुरू होने वाला है।

PSL trophy. (Photo Source: Twitter)
PSL trophy. (Photo Source: Twitter)

पाकिस्तान सुपर लीग (PSL) के सातवें संस्करण को लेकर तैयारिया जोरों पर है। यह टूर्नामेंट 27 जनवरी से शुरू होने वाला है, लेकिन कोरोना महामारी ने पीसीबी के लिए चिंता की लकीरें खींच दी। ऐसे में पीएसएल में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को सख्त बायो बबल सुरक्षा में रहना होगा और परिवार वालों को यहां आने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

इसके पहले कोरोना महामारी के कारण ही पिछले दो संस्करण स्थगित कर दिये गए थे। इसलिए इस बार सबक लेते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पहले ही किसी तरह के स्थिति से निपटने के लिए उचित व्यवस्था की है। लीग के सभी टीम बायो-बबल सिक्योरिटी के अंदर रहेंगे, जहां विशेष फ्रेंचाइजी के खिलाड़ियों के अलावा किसी को भी प्रवेश करने की अनुमति नहीं होगी।

कराची और लाहौर में होंगे टूर्नामेंट के मैच

पीएसएल का आगामी संस्करण दो कैंप में खेला जाएगा। पहले 15 मुकाबले कराची में होंगे। इसके बाद 15 मुकाबले और चार प्लेऑफ लाहौर में निर्धारित है। टूर्नामेंट के पहले चरण के लिए पीसीबी द्वारा कराची सुविधा बुक की गई है, लेकिन इसमें लाहौर में पीएसएल के लिए समर्पित एक विशेष विंग भी शामिल है, क्योंकि बोर्ड अलग से शहर में किसी भी सुविधा पर कब्जा नहीं कर सकता।

इसके अलावा पिछले संस्करणों से सबक लेते हुए 2022 संस्करण में होटल के कर्मचारी भी जोखिम की संभावना को रोकने और कम करने के लिए पीएसएल बायो बबल का हिस्सा होंगे, जबकि खिलाड़ियों के पास अलग-अलग लिफ्ट और खाने के स्थान होंगे। खिलाड़ी 20 जनवरी से कराची पहुंचना शुरू कर देंगे और तीन दिन के सख्त क्वारंटाइन के बाद उन्हें ट्रेनिंग शुरू करने की अनुमति दी जाएगी।

13 खिलाड़ियों के फिट होने पर होंगे मैच

टीम के प्रतिनिधियों और पीसीबी के बीच हुए समझौते के मुताबिक खिलाड़ियों के परिवार वाले उनके साथ नहीं जा सकते। इसके अलावा किसी भी कोरोना के मामले में पूरे होटल के फ्लोर को आरटी-पीसीआर टेस्ट से गुजरना होगा, जबकि टीमों को हर दिन रैपिड-एंटीजन टेस्ट से गुजरना होगा और पीसीआर टेस्ट हर दो से तीन दिनों में एक बार किया जाएगा।

पीसीबी ने साफ किया है कि अगर टीम में 13 खिलाड़ी फिट हैं और असंक्रमित हैं तो मैच खेले जाएंगे। हालांकि एक बैकअप प्लान के रूप में बोर्ड ने सभी टीमों के साथ स्थानीय प्रतिभाओं का एक अलग 25-खिलाड़ियों का समूह बनाने का निर्णय लिया है, जिनमें से किसी को भी मुख्य और पूरक ड्राफ्ट में नहीं चुना गया था, वे होटल के पास एक सिक्योर बायो बबल में होंगे।

Usman Khawaja (Photo Source: Google)

Ashes 2021-22 : ट्रेविस हेड की वापसी से मार्कस हैरिस बाहर, उस्मान ख्वाजा करेंगे ओपनिंग

प्रो कबड्डी लीग 2021: यूपी-हरियाणा मुकाबला टाई रहा, बेंगलुरु बुल्स ने दबंग दिल्ली को बुरी तरह मात दी