in

रोवमन पॉवेल ने किया खुलासा, आखिर क्यों अंतिम ओवर में डेविड वॉर्नर को नहीं दी स्ट्राइक

डेविड वॉर्नर 58 गेंदों में 92 रन बनाकर नाबाद लौटे।

Rovman Powell. (Photo Source: IPL/BCCI)
Rovman Powell. (Photo Source: IPL/BCCI)

इंडियन टी-20 लीग 2022 में गुरुवार को 50वें मुकाबले में दिल्ली का सामना हैदराबाद से हुआ, जहां ऋषभ पंत की अगुवाई वाली टीम ने हैदराबाद पर शानदार जीत दर्ज की। दिल्ली के लिए डेविड वॉर्नर और रोवमन पॉवेल ने शानदार बल्लेबाजी की। दोनों बल्लेबाज अंत तक नाबाद रहे और 122 रनों की साझेदारी की। वॉर्नर ने 58 गेंदों में 92 रनों की पारी खेली, जबकि पॉवेल ने 35 गेंदों में 67 रन बनाए।

डेविड वॉर्नर ने अपने पूर्व टीम हैदराबाद के खिलाफ बल्ले से कहर बरपाया। मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में मौजूद दर्शक उनका शतक देखना चाह रहे थे, लेकिन आखिरी ओवर में पॉवेल ने अपने पास स्ट्राइक रखी और लगातार बाउंड्री लगाए। इस वजह से वॉर्नर नॉन-स्ट्राइकर एंड पर खड़े रह गए। वहीं अब दिल्ली के बल्लेबाज पॉवेल ने खुलासा किया है कि जब वॉर्नर शतक के करीब थे, फिर भी क्यों वह आखिरी ओवर में स्ट्राइक पर नहीं थे।

रोवमन पॉवेल ने बताया वॉर्नर ने क्यों नहीं ली स्ट्राइक

पॉवेल ने बताया कि उन्होंने वॉर्नर से पूछा कि क्या वह सिंगल लें और उन्हें शतक पूरा करने दें। हालांकि वॉर्नर ने उनसे कहा कि क्रिकेट का खेल इस तरह नहीं खेला जाता है और उन्हें जितना हो सके आखिरी ओवर में रन बनाने चाहिए। उन्होंने कहा, ओवर की शुरुआत में मैंने पूछा, ‘क्या आप चाहते हैं कि एक सिंगल की कोशिश करें और शतक बनाए?’ तो वॉर्नर ने कहा, ‘सुनो, क्रिकेट ऐसे नहीं खेला जाता है। आपको जहां तक ​​हो सके रन बनाने की कोशिश करनी चाहिए।’ फिर मैंने ऐसा ही किया।

वार्नर की यह पारी इसलिए भी खास थी, क्योंकि क्योंकि उन्होंने अपने पूर्व टीम के खिलाफ रन बनाए थे, जिसने पिछले साल उन्हें कप्तानी से हटा दिया था। कप्तानी से बर्खास्त होने के बाद उन्हें टीम की प्लेइंग इलेवन से भी बाहर कर दिया गया था। पॉवेल ने यह भी बताया कि कैसे उन्होंने दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत को नंबर 5 पर उन पर भरोसा करने के लिए कहा।

पॉवेल ने कहा, मैंने ऋषभ पंत के साथ बातचीत की। उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं कहां बल्लेबाजी करना चाहता हूं। मैंने कहा, बस मुझ पर भरोसा करें और मुझे पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करने दें। पिछले एक साल में मैंने स्पिन को अच्छी तरह खेला है और मेरी स्पिन खेलने की क्षमता बढ़ी है। मैं अब स्पिन को बेहतर तरीके से खेलता हूं। इसलिए, मैंने उनसे मुझ पर भरोसा करने के लिए कहा।

Umran Malik: (Image Source: BCCI/IPL)

‘रफ्तार के सौदागर’ उमरान मलिक ने फेंकी इंडियन टी-20 लीग इतिहास की दूसरी सबसे तेज गेंद

Kane-Williamson

दिल्ली के खिलाफ हार के बाद हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने गिनाई टीम की कमियां