Advertisment

टी-20 कप्तानी छोड़ने के फैसले पर विराट की दो टूक, कहा- इस मुद्दे पर बहस में शामिल नहीं होना चाहता

कोहली ने कहा कि टीम का पूरा ध्यान इस टूर्नामेंट में बेहतर प्रदर्शन करने पर है, इसलिए वह इन मुद्दों को लेकर बहस में शामिल नहीं होना चाहते हैं।

author-image
Justin Joseph
एडिट
New Update
Virat Kohli (Source: Twitter)

Virat Kohli (Source: Twitter)

इंटरनेशनल टी-20 कप 2021 के शुरू होने से पहले विराट कोहली ने घोषणा की कि वह इस मेगा इवेंट के बाद भारत के टी-20 कप्तानी पद को छोड़ देंगे। विराट के इस फैसले ने काफी लोगों को आश्चर्यचकित किया और कई हस्तियों ने इस पर प्रतिक्रिया दी। हालांकि भारतीय कप्तान ने अपने इस फैसले पर बात का बतंगड़ बनाने से मना किया। कोहली ने कहा कि उन्होंने अपने फैसले के पीछे का कारण बता दिया और इस पर अन्य किसी भी बहस में शामिल होना नहीं चाहते हैं।

Advertisment

कोहली ने स्पष्ट रूप से कहा कि टीम का पूरा ध्यान इस टूर्नामेंट में बेहतर प्रदर्शन करने पर है, इसलिए वह दोबारा उन मुद्दों को लेकर बहस में शामिल नहीं होना चाहते हैं।

इस पर और बात करने की जरूरत नहीं

कोहली ने कहा मैंने स्पष्ट रूप से समझाया है और मुझे नहीं लगता कि मुझे अब उस पर और बात करने की जरूरत है। हमारा ध्यान टूर्नामेंट में अच्छा खेलने पर है और एक टीम के रूप में हमें यह करना है। कुछ लोग उन चीजों के बारे में बात करना चाहते हैं, जो है ही नहीं और मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं, जो इन बातों में आ जाऊं। मैंने ईमानदारी से चीजें सबके सामने रखी है, लेकिन अगर इसके बावजूद भी लोगों को लगता है कि कुछ है तो मुझे उनके लिए बुरा लगता है।

Advertisment

कोहली टीम इंडिया के लिए महत्वपूर्ण खिलाड़ियों में से एक है। उन्होंने कई मौकों पर टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है। आधुनिक क्रिकेट में उन्हें चेस मास्टर के रूप में जाना जाता है। इसलिए कोहली ने जब क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारुप से कप्तानी छोड़ने का फैसला किया तो इसने बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली सहित कई लोगों को चौंका दिया। सौरव गांगुली ने कहा कि यह कोहली का व्यक्तिगत फैसला था और उन पर कोई दबाव नहीं था। उन्होंने यह भी कहा कि लंबे समय तक सभी प्रारुपों में कप्तानी करना एक मुश्किल काम है।

गांगुली ने कहा फैसले से हैरान था

गांगुली ने कहा कि मैं उनके फैसले से हैरान था। यह फैसला इंग्लैंड दौरे के बाद लिया जाना था हालांकि यह उनका व्यक्तिगत फैसला है। हमारी तरफ से उन पर कोई दबाव नहीं था और किसी ने उनसे कुछ नहीं कहा। मैं खुद एक खिलाड़ी रहा हूं इसलिये मैं समझता हूं। इतने लंबे समय तक सभी प्रारूपों में कप्तान बनना बहुत मुश्किल है।

 

Cricket News Virat Kohli India General News