Advertisment

वाइड बॉल न देने का अंपायर का फैसला सही था या गलत? ChatGPT का वायरल हो रहा जवाब सुने

भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ सात विकेट से जीत दर्ज की. इस बीच विराट कोहली ने भी अपने शतक का जश्न मनाया.

author-image
Joseph T J
New Update
KOHLI

विराट कोहली

वर्ल्ड कप में भारत बनाम बांग्लादेश मैच इस वक्त सोशल मीडिया पर खूब चर्चा में है। इस बहस में कई कारकों ने योगदान दिया है। सबसे पहले 2007 में बांग्लादेश ने लीग मैच में भारत को हराकर वर्ल्ड कप में भारत की चुनौती ख़त्म कर दी थी. नेटिजन्स कह रहे हैं कि भारत ने अब अपना ऊंट उतार दिया है. दूसरी बात ये कि इस मैच में जीत से भारत की जीत का सिलसिला जारी है. तीसरा, विराट कोहली ने अपने 48वें वनडे शतक और विश्व कप में रन चेज के पहले शतक का जश्न मनाया। लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा उस वाइड बॉल की हो रही है जो अंपायर रिचर्ड केटलबोरो ने विराट कोहली को नहीं दी थी! क्या ये फैसला सही था या ग़लत? सोशल मीडिया पर ऐसी बहस छिड़ गई है.

इस मैच में बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 257 रनों की चुनौती रखी. इस चुनौती का पीछा करते हुए रोहित-शुभमन गिल की जोड़ी ने भारत को शानदार ओपनिंग दी. इसी बुनियाद के दम पर विराट कोहली और के. एल राहुल ने जीत का चरमोत्कर्ष पहुंचाया. इस तरह भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ सात विकेट से जीत दर्ज की. इस बीच विराट कोहली ने भी अपने शतक का जश्न मनाया.

आख़िर उस ओवर में क्या हुआ था?

विराट कोहली के 73 रन के निजी स्कोर पर भारत को जीत के लिए 28 रनों की जरूरत थी. तब से के. एल राहुल ने सुनिश्चित किया कि विराट कोहली को खेलने के अधिक मौके मिलें. 42वें ओवर में 2 रन शेष रहते विराट कोहली को शतक के लिए तीन रन चाहिए थे. तभी बांग्लादेश के स्पिनर नसूम अहमद ने विराट को वाइड गेंद फेंकी. क्या इससे एक रन कम हो जाता है या क्या? ये डर विराट समेत तमाम क्रिकेट फैंस को था. इसी भाव से विराट ने अंपायर रिचर्ड केटलबोरो की ओर देखा. लेकिन उन्होंने वाइड बॉल नहीं दी और हर कोई हैरान रह गया!

गेंद विराट से लगभग आधा फुट पीछे से विकेटकीपर के हाथ में रुकी, लेकिन अंपायर ने इसे वाइड बॉल नहीं दिया, इसलिए चर्चा शुरू हो गई है. क्या अंपायर वाइड गेंद होने पर भी इसे वाइड न देने का निर्णय ले सकता है? ऐसा सवाल पूछा जा रहा है. एक यूजर ने चैटजीपीटी द्वारा दिए गए जवाब को पोस्ट किया है जबकि एक्स (ट्विटर) पर इसे लेकर हंगामा मचा हुआ है.

ChatGPT के मुताबिक क्या कहता है नियम?

इस पोस्ट की तस्वीर चैटजीपीटी पर बातचीत को दर्शाती है। "क्या जानबूझकर की गई वाइड गेंद को वाइड करार दिया जाना चाहिए?" ऐसा प्रश्न उठाया गया है और इसका उत्तर "नहीं" प्रतीत होता है।

“क्रिकेट में, जानबूझकर की गई वाइड गेंद को वाइड नहीं दिया जा सकता। यदि अंपायर को लगता है कि बल्लेबाज को गेंद लगने से बचाने के लिए जानबूझकर वाइड गेंद फेंकी गई है, तो यह बेईमानी है और अंपायर इसके लिए गेंदबाजी करने वाली टीम को दंडित कर सकता है। फिर यह पेनल्टी रन के रूप में हो सकता है या फिर गेंदबाज को वहां रोकने के रूप में हो सकता है. चैटजीपीटी ने इस फोटो में जवाब दिया, "जानबूझकर वाइड गेंदें फेंकना क्रिकेट में निष्पक्ष खेल के नियमों के खिलाफ है।"

Virat Kohli