Advertisment

तो इस वजह से वसीम अकरम पाकिस्तान टीम का कोच नहीं बनना चाहते !

वसीम अकरम ने कहा कि टीम का मुख्य कोच होने के लिए कड़ी प्रतिबद्धताओं की जरूरत होती है, जिसके लिए मैं फिलहाल तैयार नहीं हूं।

author-image
Justin Joseph
New Update
Wasim Akram

Wasim Akram ( Image Credit: Twitter)

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक और गेंदबाजी कोच वकार यूनिस ने जब से अपने पद से इस्तीफा दिया है, तब से नये कोचिंग स्टाफ को खोजने का क्रम जारी है। इसी बीच वसीम अकरम का नाम भी चर्चा में आया, लेकिन उन्होंने साफ तौर पर कह दिया है कि वह पाकिस्तान टीम का कोच नहीं बनना चाहते हैं।

Advertisment

दरअसल, वसीम अकरम के पास कोचिंग का पर्याप्त अनुभव है। उन्होंने आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए और पीएसएल फ्रेंचाइजी में कोचिंग स्टाफ का हिस्सा थे। इस वजह से लोगों को लगता है कि वह पाकिस्तान टीम के कोच पद की बागडोर संभालने के लिए एक उपयुक्त उम्मीदवार हैं। हालांकि अकरम ने कहा है कि वह पाकिस्तान टीम का कोच नहीं बनना चाहते हैं।

मेरे लिए यह बहुत बड़ा काम है

वसीम अकरम ने क्रिकेट पाकिस्तान को दिए इंटरव्यू में कहा कि टीम का मुख्य कोच होने के लिए कड़ी प्रतिबद्धताओं की जरूरत होती है, जिसके लिए मैं फिलहाल तैयार नहीं हूं। उन्होंने कहा पीएसएल में अधिकांश युवाओं के साथ काम किया है और अगर उन्हें किसी सलाह की जरूरत होती है तोव वे सीधे उनसे संपर्क करते हैं। 2003 में क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद वसीम अकरम ने खुद को एक सफल कमेंटेटर के रूप में स्थापित किया।

Advertisment

उन्होंने कहा कि जब भी आप कोच बनते हैं, तो आपको साल में कम से कम 200 से 250 दिन टीम को देने की जरूरत होती है और मेरे लिए यह बहुत बड़ा काम है। मुझे नहीं लगता कि मैं अपने परिवार से दूर रह सकता हूं और पाकिस्तान से बाहर इतना काम संभाल सकता हूं। मैं पीएसएल में अधिकांश खिलाड़ियों के साथ समय बिताता हूं। उनके पास मेरा नंबर है और जब जरूरत होती है वे मुझसे सलाह मांगते हैं।

मैं दुर्व्यवहार बर्दाश्त नहीं कर सकता

अकरम ने आगे कहा कि कोच खेलने वाला नहीं होता, वह सिर्फ योजनाएं बना सकता है, लेकिन मैदान में खेलना तो खिलाड़ी को ही होता है। जब टीम हार हारती है तो प्रशंसक फटकारना शुरू कर देते हैं। मुझे नहीं लगता है कि कोच उतना जिम्मेदार या जवाबदेह है जितना हम उसे ठहराते हैं। मैं बेवकूफ नहीं हूं। मैं सोशल मीडिया पर सुनता और देखता रहता हूं कि कैसे लोग अपने कोचों और सीनियर्स के साथ बदसलूकी करते हैं। अकरम ने कहा मुझे इससे भी डर लगता है, क्योंकि मैं किसी को भी मेरे साथ दुर्व्यवहार करने के लिए बर्दाश्त नहीं कर सकता।

Advertisment

इस बीच पाकिस्तान बिना नियमित कोच के टी20 विश्व कप में उतरेगा। हालांकि पीसीबी ने ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज मैथ्यू हेडन और दक्षिण अफ्रीका के अनुभवी वर्नोन फिलेंडर को क्रमशः बल्लेबाजी और गेंदबाजी कोच के रूप में नियुक्त किया है। पाकिस्तान 24 अक्टूबर को दुबई में भारत के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेगा।

Cricket News Pakistan General News