in

‘वेलडन ओल्ड मैन’ जब धोनी ने मैदान में खिलाड़ियों के सामने ही ड्वेन ब्रावो का उड़ाया मजाक

चेन्नई ने इस मैच में दिल्ली को 91 रनों से हराया।

Dwayne Bravo. (Photo Source: IPL/BCCI)
Dwayne Bravo. (Photo Source: IPL/BCCI)

चेन्नई ने रविवार 8 मई को दिल्ली के खिलाफ धमाकेदार प्रदर्शन किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए विशाल स्कोर बनाया। इसके बाद गेंदबाजों ने कमाल करते हुए 91 रनों से जीत दिलाई। इस जीत के साथ चेन्नई ने इंडियन टी-20 लीग 2022 में प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई करने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है। हालांकि वह अंतिम चार की रेस से बाहर हो गई है, लेकिन फिर भी वे गणितीय रूप से अभी भी रेस में बने हुए।

इस बीच दिल्ली की बल्लेबाजी के दौरान एमएस धोनी को ड्वेन ब्रावो की उम्र को लेकर टांग खींचते हुए देखा गया। पारी के 17वें ओवर में महीश तीक्ष्णा की गेंद को एनरिक नॉर्खिया ने कवर क्षेत्र में खेला, जहां सर्कल के अंदर फील्डिंग कर रहे ब्रावो ने सिंगल रोकने के लिए जी जान लगा दिया। विकेट के पीछे खड़े धोनी ने उनके प्रयासों की सराहना की।

देखिए धोनी ने कैसे ब्रावो का मजाक उड़ाया

इस दौरान ने धोनी ने उनके उम्र का मजाक उड़ाते हुए कहा, ‘वेलडन ओल्ड मैन’। धोनी के कमेंट पर कमेंटेटर भी हंसने लगे। देखते ही देखते यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और फैन्स को धोनी का ये अंदाज पसंद आया। ब्रावो ने दिल्ली के खिलाफ दो विकेट लिए, जिसने चेन्नई की जीत में भूमिका निभाई।

 

बता दें कि ब्रावो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं और साथ ही वह वह अपने करियर के अंतिम पड़ाव पर है। कहा ये भी जा रहा है कि इंडियन टी-20 लीग 2022 उनका आखिरी सीजन हो सकता है। ब्रावो और धोनी 2011 से चेन्नई के लिए साथ हैं और दोनों के बीच एक अच्छी बॉन्डिंग है।

मैच की बात करें तो चेन्नई ने सलामी बल्लेबाज डेवोन कॉनवे के शानदार अर्धशतक की मदद से 6 विकेट पर 208 रनों का विशाल स्कोर बनाया। कॉनवे ने 49 गेंदों में 87 रन बनाए। अंत में कप्तान धोनी ने भी 8 गेंदों में नाबाद 21 रनों की पारी खेली। इसके जवाब में दिल्ली ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और पूरी टीम सिर्फ 117 रन पर सिमट गई।

Virat Kohli bowing down to Dinesh Karthik. (Photo Source: Twitter)

दिनेश कार्तिक की पारी से खुश विराट कोहली ने ड्रेसिंग रूम में झुककर किया सलाम, देखें वीडियो

MS Dhoni

धोनी को नहीं है प्लेऑफ की टेंशन, कहा- पहुंचे तो ठीक, अगर नहीं पहुंचते हैं तो ये दुनिया का अंत नहीं है