Advertisment

सचिन-कोहली का सपना था यह रिकार्ड जो पूरा नहीं हुआ, लेकिन अब यशस्वी जयसवाल ने किया अपने नाम

Yashasvi Jaiswal become Youngest Indian to score 200 runs for India in Tests, check out records broken by him after double hundred against england in second test match.

author-image
Joseph T J
New Update
YASHASVI JAISWAL

Yashasvi Jaiswal Double Hundred : भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच विशाखापत्तनम से डॉ. वाईएस राजशेखर रेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम में खेला जा रहा है। दूसरे मैच की पहली पारी में भारत की शुरुआत अच्छी रही और जब पहले दिन का खेल खत्म हुआ तो पहली पारी में भारत का स्कोर 336/6 था. अगले दिन के पहले सत्र में यशस्वी जयसवाल ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला दोहरा शतक लगाया.

यशस्वी जयसवाल का दोहरा शतक -

यशस्वी ने 278 गेंदों पर 7 छक्कों और 18 चौकों की मदद से 202 रन बनाए. यशस्वी ने शोएब बशीर के ओवर की पहली ही गेंद पर छक्का जड़ दिया. इसके बाद उन्होंने चौका जड़ा. वह टेस्ट में भारत के लिए दोहरा शतक बनाने वाले तीसरे सबसे युवा भारतीय बल्लेबाज बन गए। उनसे पहले विनोद कांबली ने 21 साल की उम्र में दो दोहरे शतक लगाए थे. वहीं, सुनील गावस्कर ने 21 साल की उम्र में दोहरा शतक लगाया था. अब यशस्वी ने 22 साल की उम्र में ये कारनामा किया है.

टेस्ट में भारत के लिए 200 रन बनाने वाले सबसे युवा भारतीय (Youngest Indian to score 200 runs for India in Tests)

  • 21y 35d विनोद कांबली (V Kambli ) 224 vs Eng Mumbai WS 1993
  • 21y 55d विनोद कांबली (V Kambli) 227 vs Zim Delhi 1993
  • 21y 283d सुनील गावस्कर (S Gavaskar) 220 vs WI Port of Spain 1971
  • 22y 37d यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) 201* vs Eng Vizag 2024

यह भी पढ़ें- टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए बाएं हाथ के इन 5 बल्लेबाजों ने लगाया है दोहरा शतक

भारतीय टीम काफी मजबूत स्थिति में नजर आ रही है. इसकी एकमात्र वजह यशस्वी जयसवाल हैं. पहले टेस्ट मैच में हार के बाद भारतीय बल्लेबाजों से दूसरे टेस्ट में जोरदार वापसी की उम्मीद थी. लेकिन जयसवाल की पारी को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज अर्धशतक नहीं बना सका. ऐसे में जयसवाल की ये पारी सबसे खास है. यशस्वी ने अपना पहला शतक भारतीय धरती पर लगाया और अब उस शतक को दोहरे शतक में बदल दिया है.

जिस तरह से जयसवाल ने पहले दिन से ही टीम को संभाला है. इससे पता चलता है कि वह एक अनुभवी सीनियर खिलाड़ी हैं. लेकिन वह एक सफल युवा खिलाड़ी हैं और उन्होंने भारतीय टीम की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली है. इस दोहरे शतक के साथ ही जयसवाल ने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं. जयसवाल भारत का स्कोर 500 रन के पार ले जाने की पूरी कोशिश करेंगे. अगर जयसवाल ऐसा करने में सफल रहे तो टीम इंडिया मजबूत स्थिति में होगी.

Yashasvi Jaiswal