in ,

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ हुई बेईमानी तो वीरेंद्र सहवाग और फैंस ने ट्विटर पर जमकर निकाली भड़ास, जानें क्या है मामला?

ऑस्ट्रेलिया महिला हॉकी टीम ने सेमीफाइनल में 3 गोल दागकर 3-0 से जीता मैच।

INDIAN WOMEN HOCKEY TEAM (image source: twitter)

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में चल रहे मैचों में भारत टॉप-5 में जगह बनाए हुए हैं। भारत के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स का आठवां दिन बेहद यादगार गया, भारत ने आठवें दिन 3 गोल्ड मेडल, 1 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज मेडल जीता। भारतीय दल के सभी खिलाड़ी ने जान लगाकर अपना मैच खेला जिसमें किसी को सफलता मिली और किसी का मेडल का सपना टूट गया। लेकिन, इन सबके बीच महिला हॉकी टीम में कुछ ऐसा देखने को मिला जिसने एक बड़ा विवाद खड़ा कर दिया है। कई लोगों को यह बेईमानी लग रही है और कई लोगों का कहना है कि यह एक बड़ी लापरवाही है। हालांकि यह कुछ भी हो लेकिन भारतीय महिला हॉकी टीम का इस साल मेडल का सफर इस गलती के बाद खत्म हो गया।

क्या था मामला?

भारतीय महिला हॉकी टीम को कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन दिखाते हुए मैच को ड्रा कर दिया था लेकिन पेनल्टी शूटआउट में भारतीय टीम हार गई। हालांकि इसी पेनल्टी शूटआउट के दौरान एक विवाद खड़ा हुआ जो चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहला प्रयास करने आई रोजी मेलोन गोल नहीं दाग सकी लेकिन उन्हें दोबारा एक मौका दिया गया और इस बार उन्होंने गोल कर टीम को बढ़त दिलाई।

जब रोजी पहला प्रयास करने आई तो रेफरी ने बिना टेक्निकल टीम को देखे शूटआउट चालू करने का फैसला दिया। लेकिन भारतीय टीम इंडिया की गोलकीपर और कप्तान सविता पूनिया ने गोल होने से बचा लिया। जैसे ही भारतीय टीम इस बात की खुशी मनाने लगी तभी रेफरी ने फिरसे शूटआउट लेने की बात कही। रोजी के पहले प्रयास को अमान्य माना गया क्योंकि जो आठ सेकेंड का समय दिया जाता है, वह टाइमर शुरू ही नहीं था।

इसके बाद मैदान पर तुरंत भारतीय टीम की कोच शोपमैन और बाकी खिलाड़ी रेफरी से बहस भी करती हुई दिखाई दी लेकिन इन सबका कुछ फायदा नहीं हुआ। रेफरी की गलती से टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा क्योंकि अगर कोई टीम पहला गोल बचा लेती है तो उनका मनोबल ज्यादा बढ़ जाता है और यह टीम को जीत दिलाने में काफी मदद करता है।

यहाँ देखें वीडियो

अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ ने मांगी माफी 

इसपर अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ ने माफी मांगते हुए कहा कि, “हम इस घटना के लिए माफी मांगते हैं। अगर टाइमर शुरू नहीं होता तो इस तरह की घटना में दोबारा मौका दिए जानें के नियम हैं और वैसा ही किया गया। हम कोशिश करेंगे की आगे जाकर इस तरह की गलतियाँ दोबारा न हो।”

फैंस और दिग्गज खिलाड़ियों ने की आलोचना 

इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ की काफी आलोचना की जा रही है। देखें कैसे ट्विटर पर फैंस अपना गुस्सा निकाल रहे हैं।

 

 

 

Prithvi Shaw

टीम इंडिया की ओपनिंग जोड़ी के लिए दीप दासगुप्ता ने पृथ्वी शॉ को आजमाने के लिए दिया जोर

चिन्ना थाला को मिली डॉक्टरेट की उपाधि, अब जाने जाएंगे ‘डॉक्टर’ सुरेश रैना के नाम से