Advertisment

यह खिलाड़ी बनना चाहता है प्रो कबड्डी लीग के इतिहास का सबसे धांसू डिफेंडर, लेकिन यह कोई भारतीय नहीं

PKL 9: प्रो कबड्डी लीग के 9वें संस्करण में पटना पाइरेट्स टीम के मोहम्मद रेजा शादलौई चियानेह (Mohd Reza Shadloui Chianeh) ने...

author-image
Manoj Kumar
New Update
Mohd Reza Shadloui Chianeh Pro Kabaddi League. (Photo Source: Twitter)

Pro Kabaddi League. (Photo Source: Twitter)

PKL 9: प्रो कबड्डी लीग के 9वें संस्करण में पटना पाइरेट्स टीम के मोहम्मद रेजा शादलौई चियानेह (Mohd Reza Shadloui Chianeh) ने काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इस ईरानी खिलाड़ी चियानेह ने अपने खेले 16 मैचों में 65 टैकल पॉइंट हासिल किए हैं और टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर में से एक हैं।

Advertisment

बता दें कि, चियानेह ने दबंग दिल्ली के.सी. के खिलाफ एक ही मैच में 16 पॉइंट लेकर सबसे अधिक टैकल पॉइंट का रिकॉर्ड बनाया है। वहीं, अपना दूसरा सीजन खेल रहे चियानेह ने कहा कि इस सीजन में उनका आत्मविश्वास काफी बढ़ गया है।

चियानेह का बड़ा बयान

ईरानी खिलाड़ी चियानेह (Mohd Reza Shadloui Chianeh) ने बयान दिया है कि, "मैंने हमेशा ऑन और ऑफ सीजन के दौरान कड़ी ट्रेनिंग की है। मैं ऑफ सीजन के दौरान फिटनेस पर अधिक ध्यान देता हूं। लेकिन इस सीजन में मैं पूरे आत्मविश्वास से भर हुआ हूँ। मेरा पहला प्रो कबड्डी लीग का सीजन मेरे लिए बहुत कठिन था। लेकिन अब, मुझे पता है कि सारे रेडर किस प्रकार खेलते हैं।"

Advertisment

इसके साथ ही चियानेह ने पूरे आत्मविश्वास के साथ यह भी कहा कि वह प्रो कबड्डी लीग के इतिहास में अब तक के सबसे अच्छे डिफेंडर बनेंगे।

इसपर उन्होंने कहा कि, "मैं पूरे आत्मविश्वास के साथ अगले साल एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाली टीम का हिस्सा बनना चाहूंगा। और मुझे विश्वास है की ऐसा करने से मुझे कोई नहीं रोक सकता।"

कबड्डी से कैसे हुआ इस ईरानी खिलाड़ी का वास्ता

Advertisment

यह पूछे जाने पर कि उन्होंने कबड्डी में कैसे रुचि रखी, इसपर इस खिलाड़ी ने कहा कि, "मैं ग्यारह साल से कबड्डी खेल रहा हूं। आपको बता दूँ कि मैं उससे पहले फुटबॉल खेलता था। जूनियर एशियाई कबड्डी चैंपियनशिप खेलने के बाद मेरा एक दोस्त आया और उसने मुझसे कहा कि मुझे कबड्डी खेलनी चाहिए। लेकिन मुझे उस समय कबड्डी के बारे में कुछ भी नहीं पता था। इस बात पर मेरे दोस्त ने मुझे बताया कि मेरे पास कबड्डी के लिए वो टेक्निक और वो कौशल है।"

आपको बता दें कि, भारत के साथ-साथ दूसरे देशों में कबड्डी का क्रेज काफी तेजी से बढ़ रहा है। वहीं, वह दिन दूर नहीं जब कबड्डी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बड़े गेम में तब्दील होगा और दुनिया के सभी कोने में उसकी ही चर्चा होगी।

PRO KABADDI PKL General News